ब्रांडेड के नाम पर चंडीगढ़ लाकर बेचे जाते थे नकली जूते, पकड़ी गई खेप


एम4पीन्यूज।चंडीगढ़  

ब्रांडेड कंपनी के नकली जूतों के काले कारोबार का गुप्त सूचना के आधार पर कुराली पुलिस की सहायता से स्पेशल टीम ने भंडाफोड़ कर दिया। स्पीड नेटवर्क कंपनी चंडीगढ़ के प्रतिनिधियों ने ट्रैफिक लाइट्स के निकट नाकेबंदी कर स्विफ्ट कार में चंडीगढ़ ले जाई जा रही नाइकी ब्रांड लगे नकली जूते की भारी खेप को जपत कर दो व्यक्तियों के खिलाफ ट्रेड मार्क एक्ट के तहत मामला दर्ज करवाया गया है।

स्पीड नेटवर्क कंपनी के प्रतिनिधि परमिंदर सिंह के अनुसार वीरवार शाम कंपनी को गुप्त सूचना मिली कि स्विफ्ट कार में नाइकी ब्रांड लगे नकली जूतों की भारी खेप कुराली से गुज़रने वाली है। गुप्त सूचना के आधार पर वीरवार देर शाम इस बाबत कुराली थाना पुलिस को जानकारी प्रदान की गई जिसके पश्चात थाना प्रभारी जतिंदरपाल सिंह की सहायता से ट्रैफिक लाइट्स चौंक पर नाका लगाया गया। कुछ देर में ही एक स्विफ्ट कार सीएच 01 के 4086 को शक के आधार पर रोक तलाशी लेने पर पुलिस एवं कंपनी के प्रतिनिधि ने उसमें से नाइकी का नकली मार्का लगे 200 जोड़ी जूते बरामद किए। कार में नकली जूतों की खेप के साथ पकड़े गए व्यक्तियों पहचान कमल किशोर वासी भटिंडा जो जूतों का सप्लायर है और मोहाली में रह कर कारोबार करता है तथा चरणजीत शर्मा जो लुधियाना में एम एस शूज़ प्लाजा नाम से दुकान चलाता है के रूप में हुई। नकली जूतों की खेप को लुधियाना से वाया कुराली होते हुए चंडीगढ़ पहुंचाया जाना था। स्पीड नेटवर्क कंपनी के ओनर रमेश दत्त से संपर्क करने पर उनका कहना था कि उनकी कंपनी के भारतवर्ष में कई ऑफिस हैं।

पुलिस भी नहीं कर सकी फर्क
शोरूम पर पहुंची पुलिस भी असली और नकली जूतों में फर्क नहीं कर सकी। ब्रांडेड जूतों के प्रतिनिधि ने जूतों को देखकर बताया कि शोरूम में जूतों की नकल है। शोरूम के मालिकों से पूछताछ में सामने आया कि कारोबारी नकली जूते खरीदकर लाते थे। जिन्हें ब्रांड के डिब्बों में पैक करके बेचा जा रहा था। दो व्यक्ति नाइकी ब्रांड के नाम से नकली जूतों का कारोबार कर जहां लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे थे वहीं इससे नाइकी कंपनी की साख ग्राफ भी बाजार में प्रभावित हो रहा था।

Previous डॉ. सिद्धू ने रचा इतिहास, 7वीं बार बने हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के प्रैजीडैंट
Next चलती कार में पति पर बरसाईं गोलियां, पुलिस ने किया गिरफ्तार

No Comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *