Share it

एम4पीन्यूज।

कृष्णा घाटी में पाकिस्तानी सेना के बेवजह हमले में शहीद हुए नायब सुबेदार परमजीत सिंह की पत्नी उनके अंतिम संस्कार के लिए राजी हो गई हैं। थोड़ी ही देर में शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा। उनके पैतृक गांव में भारी भीड़ इकट्ठी है और लोग नम आंखों से विदाई दे रहे हैं। पहले शहीद की पत्नी ने कहा था कि जबतक पूरा शरीर नहीं मिलेगा, अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। हालांकि शहीद की पत्नी ने कहा कि उन्हें अपने पति पर गर्व है और वह बेटे को भी सेना में भेंजेंगी।

घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार
घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार

बता दें कि सोमवार को पाकिस्तान ने सीजफायर तोड़ा था और अचानक मोर्टार दागने शुरू कर दिए थे। बिना उकसाए हुए इस हमले में तरनतारन के परमजीत सिंह शहीद हो गए। साथ ही बीएसएफ में हेड कॉन्स्टेबल बलिया के प्रेम सागर भी शहीद हो गए। पाकिस्तानी सेना ने शहीदों के साथ बर्बरता की और शव को क्षत -विक्षत कर डाला। इसके बाद पूरे देश में रोष व्याप्त है। मंगलवार को शहीद परमजीत का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव लाया गया।

घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार
घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार

पिता उधम सिंह ने कहा, “परमजीत 10 मई को छुट्‌टी पर आने वाले थे, लेकिन उनकी शहादत की खबर आ गई। देश के लिए बलिदान सम्मान की बात है।”
परमजीत की बॉडी जब तरन तारन पहुंची, तो वहां सैकड़ों लोग मौजूद थे। बच्चों ने उन्हें सलामी दी।

घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार
घर पहुंचा शहीद का पार्थिव शरीर, परिवार ने अंतिम संस्कार से किये इंकार

सरकार सबक नहीं लेती
भाई रणजीत ने कहा, “ये पहली बार नहीं है जब हमारे फौजियों के साथ दुश्मन सेना ने ऐसा व्यवहार किया है। फिर भी हमारी सरकार ने कोई सबक नहीं लिया। अगर पिछली घटनाओं के बाद उसे मुंहतोड़ जवाब दिया गया होता, तो पाकिस्तान की इतनी हिमाकत हो ही नहीं सकती थी। सैनिकों के साथ ऐसे सलूक का बदला लेना सरकार की जिम्मेदारी है।”

शहीद जवानों के सिर काटे
पुंछ में भारतीय इलाके में सोमवार को 250 मीटर अंदर तक घुसी पाक बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने आर्मी-बीएसएफ की पेट्रोल पार्टी पर हमला कर दिया। सेना के दो जवान जेसीओ नायब सूबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर शहीद हो गए। इसके बाद हमले में शहीद हमारे दो जवानों के सिर काट लिए।


Share it

By news

Truth says it all

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *