Share it

एम4पीन्यूज।

क्या आप जानते हैं कि दुनिया का सबसे खतरनाक ड्रग्स कौन सा है? आपका जवाब होगा कोकीन, हेरोइन या फिर चरस जैसे कुछ फेमस ड्रग्स के नाम। लेकिन आपको बता दें कि रिसर्चर्स ने इससे भी ज्यादा खतरनाक ड्रग्स की खोज की है। और आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि ये ड्रग्स आपके घर में ही मौजूद है।

सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!
सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!

हर दिन इस्तेमाल होता हैं ये खतरनाक ड्रग्स :
वैसे तो रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसी कई चीजें होती हैं जो ड्रग्स की कैटेगरी में आती हैं। जैसे कॉफी में मौजूद कैफीन, चाय में मौजूद निकोटिन, ये सब ड्रग्स की ही कैटेगरी में शामिल हैं। लेकिन हाल ही में किए गए रिसर्च से पता चला है कि कोकीन और हेरोइन से भी खतरनाक ड्रग्स हर किसी के घर में मौजूद है। ये ड्रग्स आपके किचन में रखा हुआ मिला जाएगा। जी हां, हम बात कर रहे हैं चीनी यानी शुगर की। रिसर्चर्स ने इसका एक्सपेरिमेंट बच्चों पर किया है। जैसे एडल्ट्स में नशे की लत लगने पर और ज्यादा ड्रग्स की डिमांड की जाती है, वैसे ही बच्चे भी और चीनी की डिमांड करते पाए गए। अंतर बस इतना है कि ड्रग्स का असर काफी जल्दी दिखता है, वहीं चीनी का नेगेटिव असर काफी सालों बाद दिखाई देता है।

सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!
सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!

दिमाग पर होता है ड्रग्स जैसा ही असर :
रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जैसे ड्रग्स लेने पर दिमाग में कई चेंजेस आते हैं। दिल की धड़कन बढ़ जाती है, वैसे ही सिंपटम्स चीनी खाने पर भी दिखाई देता है। अंतर बस ये है कि अल्कोहल और दूसरे ड्रग्स की तरह चीनी का तुरंत कोई भी नेगेटिव असर नहीं होता। लेकिन कई सालों बाद इसके हानिकारक रिजल्ट्स साफ दिखाई देते हैं।

सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!
सबके घर में मौजूद होता है ये खतरनाक ड्रग, फिर भी हम सब अंजान!

इतिहास भी है इस बात का गवाह :
1934 के ग्रेट डिप्रेशन के समय अमेरिका में मिठाई और कैंडीज की सेल काफी बढ़ गई थी। इसका मतलब साफ है कि मीठा खाने पर लोगों को खुशी महसूस होती है। चीनी और ड्रग्स में यही बात कॉमन है।


Share it

By news

Truth says it all

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *