‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!


एम4पीन्यूज

भारत और पाकिस्तान के संबंधों में जारी खटास के बीच एक बार फिर ‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ की चर्चा हो रही है. दरअसल, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ को जन्मदिन की बधाई दी. ट्विटर संदेश के जरिए मोदी ने शऱीफ के स्वस्थ और लंबे जीवन की कामना की.इसे भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते बेहतर करने के लिए ‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के तौर पर देखा गया था.

'बर्थडे डिप्लोमेसी' के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली
‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली

मोदी ने रविवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को उनके 67वें जन्मदिन पर उन्हें बधाई दी. भारत के प्रधानमंत्री का यह कदम हैरान करता है. सालभर पहले भी पीएम मोदी ने शरीफ को उनके जन्मदिन पर एक हैरान करने वाला ‘तोहफा’ दिया था. पीएम मोदी अचानक लाहौर पहुंचे और उनकी पोती की शादी में शरीक हुए थे. पीएम मोदी के इस कदम को लेकर उनके विरोधियों ने सवाल भी उठाए थे.

 

उस वक्त ऐसा लगा कि दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच आने वाले साल में रिश्ते बेहतर होंगे. लेकिन इसके कुछ दिनों बाद ही पठानकोट एयरबेस पर पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने हमला कर दिया. फिर सितंबर में उरी में भारतीय सेना के कैंप पर हमला हुआ. भारतीय फौज ने पाकिस्तान के कब्जे वाले पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक की. बुरहान वानी की मौत के बाद पाकिस्तान ने कश्मीर में भड़की हिंसा में आग में घी डालने का काम किया तो भारत ने विश्व बिरादरी में पाकिस्तान को अलग-थलग करने की कूटनीति पर काम किया. इस्लामाबाद में प्रस्तावित सार्क सम्मेलन का बहिष्कार किया गया.

'बर्थडे डिप्लोमेसी' के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!
‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली

नवाज का मूड टेस्ट!
साल 2016 में भारत और पाकिस्तान के रिश्ते बेहद खराब दौर में पहुंच गए. सरहद पर तनाव बरकरार रहा. बावजूद इसके पीएम मोदी ने पाकिस्तानी पीएम को इस बार भी बर्थडे विश किया. पीएम मोदी के इस कदम को डिप्लोमेसी के तौर पर देखा जा रहा है. भारत शायद इस संदेश के जरिये यह टटोलने की कोशिश कर रहा है कि दोनों मुल्कों के बीच रिश्ते सामान्य करने को लेकर पाकिस्तान कितना इच्छुक है. हाल के दिनों पर नजर डालें तो ऐसा लगता है कि पाकिस्तान भारत से बातचीत को इच्छुक नजर आया है. अब भारत पर निर्भर करता है कि वो इस दिशा में क्या कदम उठाता है. क्योंकि मुंबई हमले की जांच से लेकर पठानकोट हमले तक ऐसे लंबित मसले हैं जिनपर बात अभी होनी है.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि भारत बातचीत के लिए तैयार है लेकिन बातचीत के लिए माहौल बनाना जरूरी है. इससे पहले पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की ओर से भी बयान आया कि उनका मुल्क बातचीत के लिए हमेशा तैयार रहता है. कुछ दिन पहले पाकिस्तानी सेना के एक कमांडर ने भारत के सामने पाकिस्तान-चीन आर्थ‍िक गलियारे में शामिल होने का प्रस्ताव किया था.

'बर्थडे डिप्लोमेसी' के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!
‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!

पिता की ओर से बेटी मरियम ने दिया जवाब :
पीएम मोदी के ट्वीट के बावजूद इसके फॉलो अप के तौर पर पाकिस्तान ‘डिप्लोमैटिक चैनल’ के जरिये बधाई संदेश से जुड़े औपचारिक खत का इंतजार कर रहा है. यहां गौर करने वाली बात यह भी है कि मोदी के बर्थडे विश वाले ट्वीट का जवाब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने खुद नहीं दिया. उनकी बेटी मरियम शरीफ ने अपनी पिता की ओर से पीएम मोदी का शुक्रिया अदा किया. मरियम ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने पीएम मोदी का संदेश अपने पिता तक पहुंचा दिया है और उन्होंने इसके लिए शुक्रिया अदा किया है.

'बर्थडे डिप्लोमेसी' के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!
‘बर्थडे डिप्लोमेसी’ के ज़रिये पीएम ने दिखाई दरियादिली, अब पाक की बारी!

पाकिस्तान ने दिखाई दरियादिली, अब भारत भी दिखाए!
दोनों मुल्कों के बीच जारी तनाव के बीच पीएम मोदी ने जब बड़प्पन दिखाया तो पाकिस्तान ने भी दरियादिली दिखाई. पाकिस्तान की सरकार ने वहां की जेलों में बंद 518 मछुआरों में से 220 को रिहा कर दिया है. पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा है कि 5 जनवरी को 219 और भारतीय मछुआरों को रिहा किया जाएगा. पाकिस्तान ने यह दरियादिली शायद इसलिए भी दिखाई कि भारत अपनी तरफ से भी कुछ ऐसी ही पहल करे. भारत की जेलों में भी कई मछुआरे बंद हैं. ऐसे में शायद पाकिस्तान उम्मीद करता होगा कि भारत भी इन मछुआरों को रिहा करे.

Previous जोकर अब 'जोक' नहीं, करियर का नया नाम
Next Strange: He cuts himself in half then run picking his legs in arms...how??

No Comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *