Share it

एम4पीन्यूज,दिल्ली| 

दिल्ली निकाय चुनाव की तस्वीर साफ हो गई है। तीनों नगर निगमों (दक्षिणी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, उत्तरी दिल्ली) के रुझानों और नतीजों में बीजेपी प्रचंड बहुमत पाते नजर आ रही है। बीजेपी नेताओं ने पार्टी की शानदार जीत का श्रेय पीएम मोदी की नीतियों को दिया है। बता दें कि मतगणना के शुरुआती एक घंटे में ही बीजेपी ने आप और कांग्रेस को काफी पीछे छोड़ते हुए निर्णायक बढ़त हासिल कर ली। शुरुआत में दूसरे नंबर के लिए आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में थोड़ी टक्कर होती नजर आई, लेकिन बाद में आप ने बढ़त बनाई और दूसरे नंबर पर आ गई। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस जीत को छत्तीसगढ़ के सुकमा में शहीद हुए जवानों को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि जवानों के परिवार के प्रति संवेदना जताते हुए उन्होंने जीत का जश्न न मनाने का फैसला किया है।

लेटेस्ट अपडेट्स के मुताबिक, नॉर्थ एमसीडी में बीजेपी ने 35 जबकि आम आदमी पार्टी ने 15 सीट्स जीतीं। वहीं, ईस्ट एमसीडी में बीजेपी ने 27 जबकि आप ने छह सीट जीती। साउथ एमसीडी में बीजेपी ने 41 जबकि आप ने पांच सीट जीती। दक्षिण दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) में जनकपुरी पश्चिम और जनकपुरी दक्षिण में बीजेपी उम्मीदवारों ने आप उम्मीदवारों को शिकस्त दी। नरेंद्र चावला ने जनकपुरी पश्चिम से 1347 मतों के अंतर से जीत दर्ज की जबकि वीना शर्मा ने प्रतिद्वंद्वी आप उम्मीदवार को 5362 मतों से हराया। बीजेपी ने उत्तर दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) में राजेंद्र नगर वार्ड से जीत दर्ज की है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम समेत तीनों निकाय में सत्ताधारी बीजेपी ने सत्ता विरोधी लहर के बावजूद जीत दर्ज की है। बता दें कि 23 अप्रैल को कुल 272 में 270 वार्डों के लिए मतदान हुए थे। दो वार्डों में उम्मीदवारों के निधन के कारण वहां मतदान रद्द कर दिया गया था।

मनोज ने साधा केजरीवाल पर निशाना
तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि एमसीडी के नतीजे केजरीवाल सरकार पर जनता का जनमत संग्रह है। तिवारी ने कहा, ‘हम पहले भी यह कह चुके हैं कि एमसीडी चुनाव केजरीवाल सरकार पर जनमत संग्रह होगा। अरविंद केजरीवाल राइट टु रिकॉल की बात करते थे। अब ऐसा लगता है कि दिल्ली की जनता ने उनपर ही इसका इस्तेमाल किया है।’ दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने केजरीवाल के ‘ईंट से ईंट बजाने’ वाले बयान को लेकर भी उन पर निशाना साधा। मनोज तिवारी ने कहा कि सीएम पद पर बैठे शख्स को दिल्ली में ईंट से ईंट जोड़ने की बात करनी चाहिए, लेकिन वह ईंट से ईंट बजाने की बात कह रहा है। बता दें कि केजरीवाल ने दिल्ली चुनाव में हार को ईवीएम की खराबी से जोड़ते हुए आंदोलन की धमकी दी थी। साथ ही कहा था कि वह ईंट से ईंट बजा देंगे।

केजरीवाल को झटका
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। हालांकि, आप को इस तरह का झटका लगने की उम्मीद पहले से ही जताई जा रही थी। इससे पहले, राजौर गार्डन विधानसभा उपचुनाव में भी आप को शिकस्त का सामना करना पड़ा। दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी को लग रहे इन झटकों को राजनीतिक जानकार सरकार के प्रति लोगों के गुस्से के तौर पर देख रहे हैं। वहीं, आम आदमी पार्टी ने अपने खराब प्रदर्शन का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ दिया है। गोपाल राय और आशुतोष जैसे नेताओं ने ईवीएम को हार की वजह बताई। इससे एक दिन पहले ही केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि ईवीएम मशीनों में छेड़खानी की वजह से उनकी पार्टी को पंजाब और गोवा विधानसभा और दिल्ली उप चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। केजरीवाल ने यह भी धमकी दी थी कि अगर उनकी पार्टी निकाय चुनाव हारी तो वह आंदोलन छेड़ देंगे। आम आदमी पार्टी एमसीडी में बीजेपी के बीते दो कार्यकाल में कथित भ्रष्टाचार और अव्यवस्था का मामला उठाकर चुनावी मैदान में थी। हालांकि, उसे इसका कोई फायदा होता नजर नहीं आया।

बीजेपी रुझानों और नतीजों में सबसे आगे :
नगर निगम बीजेपी आप कांग्रेस अन्य
दक्षिणी दिल्ली 72 15 10 7
पूर्वी दिल्ली 47 10 4 2
उत्तरी दिल्ली 66 22 12 3


Share it

By news

Truth says it all

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *