Share it

एम4पीन्यूज,चंडीगढ़

एक और युवती ‘निर्भया’ बनने से बच गई। उसके सिर में 60 टांके तो आए लेकिन अपनी इज्जत बचा ली। नशे में धुत एक दरिंदे ने उसे शिकार बनाना चाहा, लेकिन उसने अपनी हिम्‍मत और बहादुरी से खुद को बचाया। युवती गांव के बाहर से आ रही थी। इसी दौरान नशे में धुत एक व्‍यक्ति ने उसे दबोचने की कोशिश की। युवती ने उसका विरोध किया तो उसने उस पर दराती से हमला कर दिया। युवती खुद को बचाने के लिए गांव की ओर भागी तो दरिंदे ने उसका पीछा किया और उस पर वार करता रहा। लेकिन, वह गांव तक पहुंच गई और आराेपी पकड़ा गया।

सेक्टर-16 के अस्पताल में दाखिल युवती का कहना है कि सिर का घाव तो ठीक हो जाएगा लेकिन जिंदगी भर लगने वाला घाव कैसे ठीक होता। मुल्लांपुर के रत्तवाड़ा साहिब की 28 वर्षीय युवती ने बताया कि नशे में धुत्त दरिंदे ने उसकी इज्जत पर हाथ डाला। बचने के लिए कोशिश की तो उसके कपड़े फाड़ दिए और उसके सिर पर दराती से वार कर दिया। अपनी इज्जत बचाने के लिए शोर भी मचाया लेकिन दूर-दूर तक कोई नहीं होने के कारण कोई उसे बचाने के लिए नहीं आया।

अपनी लाज को बचाने दो कि.मी. तक दौड़ती रही युवती, झेले दरांती के वार, सिर पर 60 टांके
अपनी लाज को बचाने दो कि.मी. तक दौड़ती रही युवती, झेले दरांती के वार, सिर पर 60 टांके

फिर युवती ने अपने गांव की तरफ भागना शुरू किया जो कि दो किलोमीटर दूर था। लेकिन, उसने हिम्‍मत नहीं खोई और लगातार दो किलोमीटर तक दौड़ती रही। नशे में धुत्त युवक ने उसका गांव तक पीछा किया और गांव पहुंचने तक उसके सिर पर पांच वार भी किए, जिससे युवती बुरी तरह से घायल हो गई। गांव पहुंचने के बाद लोगों ने उसे बचाया और युवक को पकड़ लिया। बुरी तरह घायल युवती को सेक्टर-16 के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चार घंटे के इलाज के बाद डॉक्टरों ने उसकी हालत को खतरे से बाहर बताया।

पुलिस को बार-बार किया फोन लेकिन छह घंटे तक नहीं आई
युवती की मां का कहना है कि सुबह 10 बजे उनकी बेटी घायल हुई और 11 बजे तक उसे अस्पताल में लाकर भर्ती कराया। गांव और परिवार वालों ने पुलिस को बार-बार कॉल की लेकिन पुलिस ने कोई सुध नहीं ली। अस्पताल में तैनात पुलिस ने दो बार मुल्लांपुर पुलिस को सूचित किया कि मामला गंभीर है लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जब दूसरी बार अस्पताल पुलिस ने सूचना दी तो मुल्लांपुर पुलिस ने हरकत दिखाई और गांव वालों की तरफ से सुबह से पकड़े गए आरोपी युवक को पकड़कर उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया।

न्यायिक हिरासत में आरोपी
मुल्लांपुर के रतवाड़ा साहिब में महिला से दरिंदगी के मामले में पुलिस की लापरवाही सामने आई है। आरोप के मुताबिक सूचना के छह घंटे बाद भी पुलिस ने पीडि़ता की सुध नहीं ली। चंडीगढ़ के सेक्टर-16 के अस्पताल में आकर युवती के बयान भी वीरवार देर शाम दर्ज किए गए। एसएसपी कुलदीप सिंह चाहल ने कहा कि छह घंटे बाद पुलिस के पहुंचने की जानकारी मेरे ध्यान में नहीं है लेकिन इसकी जांच करवाई जाएगी।

आरोपी मनप्रीत जोकि गांव पड़ोल का रहने वाला है। उसे अदालत में पेश किया गया और अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपी एरिया के मशहूर गोलू पहलवान के अखाड़े में काम करता है। वारदात के समय महिला इसी गांव में पड़ते अपने 10 साल के बच्चे के स्कूल गई थी। रास्ते में मनप्रीत ने उसे अकेले लौटते देखा और खेतों में खींच लिया। महिला ने पूरे दमखम के साथ मनप्रीत को मुकाबला किया। अपने इरादों में नाकाम रहने पर मनप्रीत ने उस पर दराती से वार करना शुरू कर दिया। इसके बावजूद महिला ने हिम्मत नहीं हारी और मुकाबला करती रही।


Share it

By news

Truth says it all

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *