जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर


एम4पीन्यूज। 

आनंद महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन इन दिनों ट्विटर पर छाए हुए हैं। वजह बना है एक ट्विटर यूजर के सवाल के जवाब में किया गया उनका एक ट्वीट। इस ट्वीट को पढ़कर लोग आनंद महिंद्रा के व्यंग्यात्मक लहजे और उनकी कुशाग्र बुद्धि की तारीफ कर रहे हैं। दरअसल, आनंद महिंद्रा ने पिनिनफरीना मैजराती बर्डकेज (2006) की तस्वीर ट्वीट की और लिखा, ‘यह ऐसा केज (पिंजरा) है जिसमें कैद होने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं।’ महिंद्रा के इस ट्वीट पर सिद्धांत खन्ना नाम के ट्विटर यूजर ने उनसे पूछ डाला कि अगर यह कार आपको इतनी ही पसंद है तो आप इसे खरीद क्यों नहीं लेते?

जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर
जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर

सिद्धांत को शायद यह पता नहीं था कि आनंद महिंद्रा ने तो कार क्या कंपनी ही खरीद रखी है। आनंद महिंद्रा ने सिद्धांत के इस ट्वीट के जवाब में कहा कि कार क्या उन्होंने तो कंपनी ही खरीद ली। महिंद्रा ने एक स्माइली के साथ ट्वीट किया, ‘हमने तो कंपनी ही खरीद ली है… (पिनिनफरीना)।’

जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर
जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर

आनंद्र महिंद्रा का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसे सैकड़ों लोगों ने पसंद करने के साथ-साथ रीट्वीट भी किए। कई लोगों ने उनकी हाजिर जवाबी की प्रशंसा की। अंबुज त्यागी नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘नतमस्तक हो गया, सर। आज तक ट्विटर पर मैंने जितनी शानदार प्रतिक्रियाएं पढ़ी हैं, उनमें यह एक है।’

जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर
जानिए आखिर ऐसा क्या बोले-आनंद महिंद्रा, जो छा गए ट्वीटर पर

इससे पहले, महिंद्रा ने जब कार की तस्वीर ट्वीट की तो दिनेश जोशी नाम के एक यूजर ने मजे ले लिए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘क्या कोई यह कार मुझे गिफ्ट करना चाहता है? उम्मीद करता हूं कि मि. महिंद्रा ने मेरी बात अच्छी तरह समझ ली होगी?’

 

गौरतलब है कि दिसंबर 2015 में ही आनंद महिंद्रा ग्रुप ने इटली की कार डिजाइन कंपनी पिनिनफरीना का अधिग्रहण किया था। समझौते के तहत टेक महिंद्रा और महिंद्राऐंडमहिंद्रा (एमऐंडएम) ने 1.1 यूरो प्रति शेयर के हिसाब से पिनिनफरीना के 76.06 प्रतिशत शेयर खरीद लिए। खबर है कि महिंद्रा ने यह निवेश एक जॉइंट वेंचर के जरिए किया जिसकी 60% ऑनरशिप टेक महिंद्रा और 40% एमऐंडएम के पास है।

Previous भारत का राष्ट्रपति भवन है व्हाइट हाउस से भी महंगा, इन खूबियों से है भरपूर
Next निक्की हेली होंगी UN में अमेरिकी राजदूत, पहले कर चुकी हैं ट्रंप का विरोध

No Comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *